भाभी ने चुद्वाकर मेरी मुठ मारने की आदत छुड़वाई

नमस्कार पाठको, कैसे हैं आप सब ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी| आप सभी को मेरा सादर प्रणाम | मेरा नाम चोजा राजन है और मैं तिरुवनंतपुरम का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं कोचिंग क्लास चलाता हूँ | मेरा रंग काला है और मेरी हाईट 6 फुट 2 इंच है और मेरा शरीर हट्टा कट्टा है | मैं इस साईट का दैनिक पाठक हूँ और मुझे इस साईट की कहानियां पढ़ना पसंद है | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं आप लोगो से उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आएगी | तो आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी आरंभ करता हूँ |

दोस्ते ये घटना कुछ समय पहले की है | मेरे घर में मैं और मेरे मम्मी पापा के साथ एक छोटा भाई और भाभी रहते हैं | मेरे बड़े भैया आर्मी में है और और वो तीन महीने में एक बार आया करते हैं घर | भाभी का एक छोटा बेटा है जो महज एक साल का है | मेरी भाभी का नाम सुलोचना है और वो दिखने में बहुत गोरी हैं और उनकी हाईट 5 फुट 6 इंच है | उनका भरा बदन बहुत ही कहर वाला है | भाभी की बड़ी बड़ी बड़ी चुच्चियाँ और बाड़े चूतड़ इस बात का सबूत है कि बड़े भाई ने क्या देख कर शादी की होगी |

जब हम शादी की बात करने घर गए थे तब बड़े भाई ने मुझ से पूछा था कि भाभी कैसी हैं ? तो मैंने कहा भैया कर लो शादी अगर ये नहीं मिली न आपको तो आप बहुत पछताओगे | भैया ने भी मेरी बात को सही समझा और शादी के लिए फ़ौरन हाँ कर दी | फिर शादी हुई तो भैया यहाँ कुछ ही समय रहे और फिर उनकी पोस्टिंग लद्दाख हो गई | बस उनका तीन महीने में ही एक बार आना जाना लगा रहता है और वो भी बस एक ही हफ्ते के लिए आते हैं |

एक दिन कि बात है मैं घर में था और भाभी भी | मेरे मम्मी पापा और छोटा भाई एक पार्टी के फंक्शन में गए हुए थे | मैं अपने रूम में बैठ कर मुट्ठ मार रहा था | लेकिन मैं शायद दरवाजा बंद करना भूल गया था | मेरा माल झड़ने ही वाला था कि भाभी ने एक दम से दरवाजा खोला और जैसे ही मैं खड़ा हुआ तो मेरा माल झड़ गया | भाभी ने मेरे लंड की ओर देखा और मुस्कुरा कर चली गई सॉरी बोल कर | मैं मन ही मन ये सोचने लगा कि भाभी कहीं घर में न बता दे तो मैंने तुरंत अपना लंड साफ किया और उनके पास गया | भाभी उस समय किचिन में थी तो मैंने कहा भाभी सुनो तो भाभी मेरी तरफ देख कर जोर से हँस पड़ी |

मैंने पूछा भाभी आप क्यूँ हस रहे हो ? तो भाभी ने कहा अबे इतनी उम्र हो गई है तेरी कोई लड़की नहीं पटी क्या तुझसे अब तक | तो मैंने कहा भाभी क्या करे नहीं पटती तो | फिर उन्होंने पूछा कि तू रोज मुट्ठ मारता है क्या ? भाभी के मुंह से ये शब्द सुन कर मेरा लंड खड़ा हो गया | तो मैंने कहा भाभी हाँ क्या करूँ रोज चुदाई करने का मन करता है लेकिन किसी चोदुं | भाभी सब सुनते जा रही थी और मुझसे बात भी करते जा रही थी |

भाभी ने मुझसे कहा कि मैं तेरा काम आसान कर सकती हूँ | मैंने पूछा वो कैसे तो उन्होंने कहा तू मेरी मौसी की बेटी से शादी कर ले तुझे चूत भी मिल जाएगी और मुट्ठ मारने की आदत भी छूट जाएगी | मैंने कहा भाभी अगर आप बुरा न मानो तो आप से एक बात कहूँ | तो भाभी ने कहा हाँ बोल | तो मैंने कहा भाभी वैसे तो आप मुझे पसंद हो | अगर आपको ऐतराज न हो तो क्या आप मेरी मुट्ठ मारने की आदत छुडवा सकते हो ? शायद भाभी शर्मा गई तो वो किचिन से बाहर जाने लगी | तभी तुरन्त ही मैंने उसका हाँथ पकड़ा तो वो मुझसे शर्माने लगी | तो मैंने कहा जान अब जो हो रहा है हो जाने दो न अब क्या शर्मना | उसने कहा क्या करू आ रही है | उसका हाँथ पकड़ कर मैंने अपनी तरफ खींच लिया और उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया | कुछ देर तक हम एक दूसरे के बदन को सहला रहे थे |

फिर मैं उसके होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगा तो वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूस रही थी | मैं उसके होंठ को चूसते हुए उसके दूध भी दबा रहा था और वो भी मेरे होंठ को चूसते हुए मेरी पीठ को सहला रही थी | हम दोनों ने करीब 10 मिनट तक किस किया और उसके बाद मैंने एक एक कर के अपने सारे कपड़े उतार दिए | उसने भी अपने गाउन को उतार दिया और मेरे सामने ब्रा और पेंटी में खड़ी थी | मैं उसके दूध को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा तो उसके मुंह से आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | मैंने उसके ब्रा को भी उतार दिया और पहले दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो दुसरे दूध के निप्पल से खलेने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी |

कुछ मिनट के बाद मैं दुसरे दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो पहले दूध के निप्पल को मसलने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए आन्हे भर रही थी | फिर मैंने उसके दोनों दूध के निप्पलस को अपने मुंह में लिया और जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए मेरे सिर पर हाँथ फेरने लगी | मैंने उसके दूध को 15 मिनट तक मसलते हुए चूसा |

फिर उसने मेरी अंडरवियर को उतार दिया और मुझे लेटा दिया और मेरी छाती चूमते हुए नीचे आ कर मेरे लंड को हाँथ से पकड़ कर हिलाने लगी तो मैंने कहा जान अब हिलाते रहोगी या कुछ करोगी भी | तो वो मेरे लंड पर अपने जीभ के स्पर्श से मेरे लंड को चाटने लगी तो मेरे मुंह से भी आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह की सिस्कारियां निकलने लगी | वो मेरे लंड को जीभ से चाट कर गीला कर कर रही थी और मेरे लंड के सुपाड़े पर अपनी जीभ को गोल गोल घुमा रही थी और मैं आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए सिस्कारियां भर रहा था |

फिर उसने मेरे लंड को ऊपर उठाया और मेरे दोनों गोटों को चूसने लगी तो मैंने आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए कहा उसको छोड़ो लंड चूसो | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह के अन्दर डाला और चूसने लगी तो मैं आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | वो मेरे लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे हिलाते हुए चूस रही थी और मैं आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए मजे ले रहा था | मेरे लंड को उसने 10 मिनट चूसा | उसके बाद मैंने उसे लेटा दिया और उसके पैरो को खोल कर उसकी चिकनी चूत को चाटने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए मचलने लगी |

मैं उसकी चूत चाटते हुए चूत को ऊँगली से चोद भी रहा था और वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत के अन्दर डाल दिया और चोदने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए चुदाई के मजे ले रही थी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो वो आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊमंह आहा ऊंह ऊउम आहा ऊम्ह आहा ऊम्ह आहा ऊम्म्ह करते हुए जोर जोर से सिस्कारियां ले रही थी | करीब 25 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उसके मुंह के ऊपर ही झड़ा दिया |

तो पाठको ये थी मेरी कहानी और मुझे विश्वास है कि आप लोगो को मेरी कहानी जरुर अच्छी लगी होगी | धन्यवाद !

इस कहानी को WhatsApp और Facebook पर शेयर करें