अब मुझे काला और मोटा लंड चाहिए

हेलो मैं निशा शर्मा, पढ़ी लिखी मॉडर्न औरत हु, मेरी शादी को अभी ६ महीने ही हुए है, मैं देखने में काफी गोरी लम्बी और काफी सुन्दर हु, क्यों की जब भी मैं घर से बाहर निकलती हु, सब लोग मुझे देखते है जो लोग आगे से देखते है उनकी निगाह मेरी बूब्स पे होती है और जो पीछे से देखते है उनकी निगाह मेरे चूतड़ पे होती है, क्यों की जब मेरी मस्तानी चूतड़ हिलती है तब सबकी आँखे फटी की फटी रह जाती है, और आगे तो मस्त मस्त बूब्स बड़ा बड़ा टाइट टाइट पर क्या करूँ कोई भोगने वाला ही नहीं है, मैं थोड़ी बहकी बहकी बात कर रही हु इसके लिए आपसे माफ़ी चाहती हु, पर कितनी दिन तक मैं सती सावित्री बन कर रहू, मेरा काम वासना अब जवाब दे गया है |

अब मुझे काला और मोटा लंड चाहिए लंबा सा वो देर तक मेरी ठुकाई कर सके कोई फर्क नहीं पड़ता चाहे वो मेरी चूत मार ले या गांड मार ले मैं सब में राजी हु, बस चाहिए तो लम्बी रेस के घोडा, जो थके नहीं. अगर मेरे पति के तरह हुआ तो लात मार दूंगी गांड पे. पहले मैं आपको अपनी पूरी कहानी बता दू फिर कमेंट करना जिसका कमेंट सबसे हॉट होगा समझो उसकी लाटरी लग गयी

ये भी पढ़े : मम्मी की बुर का मीठा स्वाद

मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट हु, शादी अच्छे घर में हो गयी है, हस्बैंड का अपना व्यापार है, वो मुझे टाइम नहीं दे पाता, रात को १२ बजे घर आता है, खाना खता है, और सोने की कोशिश करता है, मैं चुदने के लिए तड़पते रहती हु, और वो मुझे यूँ ही तड़पता हुआ छोड़ देता है, कभी कभी जब वो छूटी के दिन घर होता है, तो मैं उसको काफी रिझाने की कोशिश करती हु, कभी कभार वो अगर तैयार भी हो जाता है तो वो मुझे अपनी बाहों से मुझे कस के जकड भी नहीं पता है मैं अंगड़ाइयाँ लेते रहती हु, वो उसकी पकड़ ढीली ही रहती है |

ये भी पढ़े : मेरी सारी जरुरत चुत और पैसे दोनों मिले

एक तो सबसे ख़राब चीज है वो है उसकी लण्ड मादरचोद कहा से लाया है २ इंच का लण्ड आप खुद सोचो भला दो इंच के लण्ड के क्या होगा, कम से कम ६ इंच का तो होना ही चाहिए, उसपर से भी मरा हुआ छोटा चूहा जैसा, मेरे तन बदन में आग लग जाती है, और धक्के मार के मैं उतार देती हु, और तकिये के सहारे रात पूरी काट लेती हु |

मेरे ज़िंदगी में तीन दिन के लिए बहार आ गया था जब मैंने दूध वाले भैया से चुदवाई थी, वो एक नंबर का हरयाणा का जाट था, मेरे यहाँ दूध देने आता था, मेरा पति गुजरात गया था काम से मैं अकेली थी घर पर, बेल्ल बजाय मैं निकली मैं नाईटी पहनी थी, अंडर ब्रा नहीं पहनी थी, मेरी चूचियाँ हिलोरे ले रही थी, निप्पल नाईटी के ऊपर से साफ़ साफ़ दिख रहा था, वो दूधवाला भैया देखा की देखते रह गया, उसकी निगाहे चुचिओं से हट ही नहीं रही थी, मुझे काफी गुसा आया की किसी औरत को ऐसे कैसे देख सकता है, पर एक पल में ही मैं शांत हो गयी |

मैंने सोचा हो सकता है ये भी मेरे जैसा ही प्यासा हो, मैंने कहा क्या बात है भैया ऐसे क्यों देख रहे हो, बोला जी जी मैडम जी, नहीं नहीं नहीं कुछ भी नहीं वो हड़बड़ा गया, मेरी नजर उसके पजामे पे पड़ी वो अंडरवियर नहीं पहना था उसका औज़ार खड़ा हो गया था, मैंने सोचा यही मौका है पति भी घर पे नहीं है मैं अपनी वासना को शांत कर लू | मैंने उसको अंदर बुला लिया, पूछा तुम्हारी शादी हो चुकी है, बोला जी मैडम पर पत्नी मुझे छोड़कर चली गयी है, मैंने पूछा क्यों तो बोला, रहने दो मैडम, मैंने फिर पूछा बताओ तो सही, बहुत बार बोलने के बाद बोला, वो पतली सी थी और कहती थी की तुम्हारा आप सकझ गए ना मैडम, बहुत बड़ा है, और दिन में तीन चार बार करते हो, इसलिए वो बर्दाश्त नहीं कर पायी और मुझे छोड़कर चली गयी आज गए करीब पांच महीने हो गए है, तो मैंने कहा एक बात है अगर तुम किसी को नहीं बताओगे तो कहूँगी बोला माँ कसम मैडम सब बात गुप्त रहेगा आप बताओ, तो मैंने उससे कहा मैं तेरे साथ सेक्स सम्बन्ध बनाना चाहती हु, पर तुम किसी को बताना नहीं, इतना सुनते ही वो दूध देने बाल डोली निचे रख दिया, बोला पक्का मैडम किसी को नहीं बताऊंगा.

ये भी पढ़े :  हार्ड कोर सेक्स बिना कुछ कहे डायरेक्ट गांड फाड़ा
मैं उसको अपने बैडरूम में ले गयी, और पजामे के ऊपर से ही उसका लौड़ा को हाथ में ली मोटा सा था, पर मेरी क्यूरोसिटी बढ़ गयी और मैंने उसके पजामा का नाड़ा खोल दिया और लण्ड को बाहर निकल लाई वैसा ही लण्ड था मेरे सपने का लण्ड जैसा, मोटा काला लम्बा ओह्ह्ह मैं लेट गयी वो मेरे पे चढ़ गया और नाईटी को उतार दिया और मेरे बूब्स को मसलने लगा, फिर मुह में लेने लगा, उसके बाद उसने मुझे पेट के बल लेट जाने को कहा, बोला मैडम मैं आपका गांड चाटना चाहता हु |

और वो मेरी गांड को चाटने लगा करीब दस मिनट तक गांड चाटते रहा मेरी चूत गीली हो चुकी थी और आग भी लग चुकी थी मेरी चूत में, मैं अपनी गांड उठा दी घटने के बल हो गयी अब तो मेरी चूत को चाटने लगा, बोला मैडम इसमें तो और भी ज्यादा मजा है, आपकी चूत तो एक दम गीली हो चुकी है, फिर मैंने लेट गयी और वो मेरी टांगो को ऊपर उठा दिया. अपना मोटा लण्ड मेरी चूत के ऊपर सेट किया, और दोनों हाथो से मेरी चुचिओं को पकडा और एक ही झटके में पूरा लण्ड मेरी चूत में पेल दिया, मैं कराह उठी, पहली बार किसी मर्द से पाला पड़ा था, उसका लण्ड मेरी चूत को फाड़ते हुए, दहाड़ते हुए अंदर दाखिल हो गया |

ये भी पढ़े : चुदक्कड़ भाभी और भाभी की बेटी की चुदाई

अब वो भद्दी भद्दी गालियां देने लगा और झटके मारने लगा, कह रहा था ले रंडी ले, साली क्या चूत है तेरी, हाय आज तुझे संतुष्ट कर दूंगा, रंडी साली, रोज रोज तेरे बारे में सोच सोच के मूठ मारता था, पहले खयों नहीं चुदवा सकी, साली ले ले लण्ड मेरा, और वो जोर जोर से झटके दे रहा था, मैं तीन बार झड़ चुकी थी, और आखिर वो लास्ट में करीब चालिश मिनट बाद वो भी झड़ गया और मुझे कस के पकड़ लिया, ऐसा लग रहा था की आज उसकी बरसो की प्यास बुझी है, मैं भी पूरी तरह से संतुष्ट थी. इस तरह से मेरी वासना की प्यास पहली बार बुझी, मैं दूसरे दिन भी उसका इंतज़ार की थी, वो फिर से मुझे चोदा और उस दिन गांड भी मारा, तीसरे दिन मैं उसका इंतज़ार की पर वो नहीं आया, मैं उसका इंतज़ार रोज रोज कर रही हु पर वो आजकल दूध देने नहीं आ रहा है, आज एक महीना हो गया है, उसका आता पता नहीं है, मैं फिर से प्यासी हु, अगर मुझे कोई संतुष्ट कर सकता है तो निचे कमेंट करें

इस कहानी को WhatsApp और Facebook पर शेयर करें
  • anup

    yaar sardi se bacho aur jo bhi swari mil jaye chud jao aur chudai karo .aakhir chut -bhosdio ki lode lundo se chudwane ka mausam he yaaro …chod dalo ,faad dalo unki chut -bhosdio ko unki buchchedani me apne lodo ka maal bhur do .uneh pregnent kr do .

  • ए के एम

    प्रिय निशा शर्मा ,
    तुम्हारी पसन्द काला और मोटा लण्ड था / है ।
    ऐसी इच्छा में कोई अचम्भा नहीं होना चाहिये।
    तुम्हारी चूत गोरी-गोरी है अतः colour combination के नियमों के अनुसार सबसे उचित combination रहेगा contrast और ऐसे में black n white का colour combination सबसे उत्तम माना गया है।
    इसी दृष्टिकोण से विदेशों में काले हब्शियों के काले और मोटे-लम्बे लौड़ों और गोरी-गोरी मेमों की गुलाबी चूत के मध्य चुदाई बहुत प्रचलित है। इनमें Mandingo और Lexington Steely नामक नायक बहुत प्रसिद्ध है अपने कोयले से अधिक काले और खम्बे सरीखे लम्बे और मोटे लौड़ों के कारण।
    कई बार तो चुदने वाली नारी काले लण्ड और गुलाबी चूत के सन्गम के नज़ारे को देख “पागल “ हो उठती है और उसका लघु स्खलन तक हो जाता है ऐसे दृश्य को देख कर्।
    दूसरी ओर इस नज़ारे को देखने वाले दर्शकों को मज़ा आ जाता है जब इन हब्शियों के लण्ड का काला-काला टोपा गोरी-गोरी मेमों चूत के गुलाबी होंठों को खोलता हुआ भीतर प्रवेश करता है।
    ऐसे में देखने वा्ले , नर या नारी, दोनों की जाँघों के बीच “पसीना” आने लगता है और अनायास ही उनका हाथ अपने-अपने यौन अन्गों को सहलाने-पुचकारने लगते हैं।
    मोटे लण्ड द्वारा चूत के फ़ैलने का दृश्य भी एक अलग आनन्द देता है , देखने वालों को और चुदने वाली चूत को।
    बाकी जैसी माँ रति और बाबा कामदेव की इच्छा
    सप्रेम
    सर्व योनि चोदनाभिलाषी
    हर चूत की सेवा में सदैव तत्पर
    बलिष्ठ लिन्गधारी
    ए के एम