Sourya Archive

बीवी को छोड़ किसी ओर को चोद

मैंने सुष्मिता के नरम होंठो का रसपान किया। उसके स्तनों का मैंने काफी देर तक रसपान किया, हम दोनों की गर्मी बहुत ज्यादा बढ़ गई थी मैंने सुष्मिता के स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया उसके स्तनों से मैंने दूध निकाल कर रख दिया।